बीकानेर में ऑक्‍सीजन प्रेशर की कमी से कितने मरे 2 या 3, कब मरे सुबह या दोपहर

How many died in Bikaner due to lack of oxygen pressure 2 or 3, when died in the morning or afternoon
How many died in Bikaner due to lack of oxygen pressure 2 or 3, when died in the morning or afternoon

दो बडे अखबारों के दावे अलग-अलग

बीकानेर, (समाचार सेवा) बीकानेर में ऑक्‍सीजन प्रेशरकी कमी से कितने मरे 2 या 3, कब मरे सुबह या दोपहर, पीबीएम अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन का प्रेशर कम होने से मरीजों की हुई मौत के मामले में दो बडे अखबारों के दावे अलग-अलग हैं।

दैनिक भास्‍कर में मंगलवार को -दो बार ऑक्‍सीजन सप्‍लाई बंद होने से कोविड हॉस्पिटल में 3 मरीजों की मौत- शीर्षक से प्रकाशित खबर में ऑक्‍सीजन प्रेशर कम होने से तीन लोगों की मौत होने की जानकारी दी गई है।

वहीं राजस्‍थान पत्रिका में – ऑक्‍सीजन प्रेशर हुआ कम, दो मरीजों की मौत- शीर्षक से प्रकाशित समाचार में दो मरीजों की मौत का दावा किया गया है। इन दोनों अखबारों में अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन प्रेशर कम होने का समय भी अलग-अलग बताया गया है।

मंगलवार को पीबीएम अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन की अव्‍यवस्‍था को लेकर एक-दो वीडियो वायरल हुए थे।जबकि अस्‍पताल प्रशासन ने वीडियों में उठाई गई बातों को नकार दिया था।

दैनिक भास्‍कर के अनुसार पीबीएम कोविड अस्‍पताल में मंगलवार सुबह 4 से 8 बजे तक के आईसीयू में ऑक्‍सीजन का प्रेशर डाउन चले जाने से दो बार अफरा-तफरी का माहोल बना। तीन लोगों की मौत हो गई।

जबकि राजस्‍थान पत्रिका के दावे के अनुसार अस्‍पताल में मंगलवार दोपहर करीब 12 व 12.45 बजे वार्ड में ऑक्‍सीजन का प्रेशर कम हो गया। इससे कुल आठ मरीजों की हालत बिगड गई और दो मरीजों की मौत होने की बात कही गई है। दैनिक भास्‍कर के अनुसार ऑक्‍सीजन की कमी को लेकर पीबीएम कोविड अस्‍पताल के आईसीयू में ऑक्‍सीजन का प्रेशर डाउन चले जाने से मंगलवार सुबह 4 से 8 बजे तक दो बार अफरा-तफरी का माहोल बना।

भास्‍कर ने एक मरीज के अटेंडेट के हवाले से यह भी बताया कि सुबह चार बजे के बाद ऑक्‍सीजन का प्रेशर कई बार डाउन चला जाता है। मरीजों के परिजनों के शोर मचाने पर प्रेशर वापस तेज होता है।

भास्‍कर की रिपोर्ट के अनुसार एमसीएच कोविड हॉस्पिटल में मंगलवार सुबह चार से आठ बजे तक दो बार ऑक्‍सीजन सप्‍लाई बंद हो गई। जिससे तीन मरीजों की मौत हो गई। अखबार के अनुसार इससे पहले भी दो बार ऑक्‍सीजन सप्‍लाई बंद होने से पोस्‍ट कोविड वार्ड के दो मरीजों की मौत हो चुकी है।

अखबार के अनुसार मंगलवार सुबह ऑक्‍सीजन बंद होने से अफरा-तफरी मच गई। मरीजों के परिजनों के हवाले से अखबार ने बताया कि आधे घंटे तक ऑक्‍सीजन नहीं मिलने से मरीजों की मौत हो गई। राजस्‍थान पत्रिका के अनुसार मंगलवार को कोविड अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन प्रेशर घटने से दो मरीजों की मौत हो गई।

अखबार को मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार दोपहर करीब 12 व पौने एक बजे वार्ड में ऑक्‍सीजन का प्रेशर कम हो गया। इससे मरीजों की सांसे उखडने लगी। कुल आठ मरीजों की हालत बिगड गई।

पीबीएम के अनुसार वायरल वीडियो का सच

कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं, वीडियो में दर्शाए रोगी थे बाईपेप वेंटिलेटर पर

कलक्टर के निर्देश पर पीबीएम ने गठित की जांच कमेटी, शीघ्र देगी रिपोर्ट

बीकानेर, (समाचार सेवा)पीबीएम अस्पताल अधीक्षक डॉ. परमिंदर सिरोही ने कहा है कि सोशल मीडिया पर मंगलवार को वायरल हो रहे वीडियो में एमसीएच विंग (कोविड हॉस्पिटल) में ऑक्सीजन की कमी से मरीजों की मृत्यु होना दर्शाया गया है।

जबकि चिकित्सालय में ऑक्सीजन की कमी नहीं है और ऑक्सीजन की आपूर्ति मरीजों को सुचारू रूप से की जा रही है। वीडियो मे स्क्रीन पर जो ऑक्सीजन लेवल दिखाया गया, वह मरीज का ऑक्सीजन लेवल था ना कि ऑक्सीजन सप्लाई का लेवल, जो कि मरीज की बीमारी के अनुसार कम या ज्यादा हो सकता है।

उन्होंने बताया कि ऑक्सीजन प्लांट के पैनल बदलते समय कभी-कभी ऑक्सीजन का प्रेशर कुछ कम हो जाता है। वीडियो में दर्शाए मरीज, जिनकी मृत्यु हुई है वे सभी गंभीर थे और बाईपेप वेंटिलेटर पर थे तथा प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत नहीं होता है कि ऑक्सीजन की कमी से किसी मरीज की मृत्यु हुई है।

इसके बावजूद समूचे प्रकरण के सत्यापन के लिए कलक्टर के निर्देश पीबीएम द्वारा वरिष्ठ चिकित्सकों की जांच कमेटी गठित कर दी गई है, जो इस प्रकरण की जांच कर अपनी तथ्यात्मक रिपोर्ट शीघ्र प्रस्तुत करेगी।

विभिन्न स्तरों पर हो रही मोनिटरिंग

सिरोही ने बताया कि एमसीएच विंग में ऑक्सीजन व्यवस्था की मॉनिटरिंग के लिए चार वरिष्ठ चिकित्सकों की कमेटी बनाई गई है। वहीं कलक्टर के निर्देशानुसार वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी भी समूची व्यवस्था देख रहे हैं।

मंगलवार से दस नर्सिंग कर्मियों को एमसीएच विंग में ऑक्सीजन की निर्बाध सप्लाई के पर्यवेक्षण के लिए राउंड द क्लॉक के हिसाब से नियुक्त किया गया है।