व्यापारियों के बिजली के बिल हों माफ – रघुराज सिंह राठौड

0
bikaner vyapar udhyog mandal
bikaner vyapar udhyog mandal

बीकानेर, (samacharseva.in) व्यापारियों के बिजली के बिल हों माफ – रघुराज सिंह राठौड, बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल  के अध्यक्ष रघुराज सिंह राठौड केन्‍द्र व राज्‍य सरकार से लॉकडाउन अवधि 22 मार्च से 31 मई तक के व्‍यापारियों व उधोगपतियों के बिजली के बिल माफ करने का आग्रह किया है।

Advertisements
ads

राठौड ने इस संबंध में मंडल पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल, राजस्‍थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला और बिजली कंपनी बी.के.एस.ई.एल के उच्‍चाधिकारियों को पत्र भेजा है। पत्र में बताया गया है कि  इस वर्ष 22 मार्च से संपूर्ण कार्य बंद पड़े हैं। ऐसे में बिजली के बिल माफ होने चाहिए। उन्‍होंने कहा कि लॉडाउन में दुकानें बंद पड़ी थी कुछ भी कार्य नहीं हुआ।

Advertisements
LONGI

बिजली नहीं जली तो बिल देने का कोई औचित्य नहीं बनता। बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल के प्रवक्ता सोनूराज आसुदानी ने कहा वैश्विक महामारी कोरोना के चलते देशभर में लॉकडाउन चल रहा है श्रमिकों के रोजगार छिन गए है और आने वाले दिनो में लोगों को आर्थिक मंदी से गुजरना पड़ेगा ऐसे में मुख्यमंत्री गहलोत व बिजली कंपनी से मांग की है कि पूरे देश मे 22-मार्च से 31-मई-2020 तक के बिजली के बिल माफ कर देने चाहिए।

मंडल के पदाधिकारी व सदस्यों ने भी एक स्‍वर में कहा बिजली के बिल माफ होने चाहिए। बैठक में सचिव जयदेव शर्मा, उपाध्यक्ष हेतराम गौड़, कोषाध्यक्ष रवि पुरोहित, संगठन सचिव ईश्वरचंद बोथरा, सहसचिव विनोद भोजक, वेदप्रकाश अग्रवाल, श्रीलाल व्यास, रोहित कच्छावा महावीर सिंह चारण, रविंद्र जोशी, सुशील शर्मा, सतीश पुरोहित, सचिन भाटिया, गोविंद सिंह कच्छावा सभी उपस्थित थे।

Electricity bills of traders be waive – Raghuraj Singh Rathore

Bikaner, (samacharseva.in). Bikaner Vyapar Udyog Mandal President Raghuraj Singh Rathore has requested the Center and the state government to waive the electricity bills of the businessmen and industrialists from March 22 to May 31 for the lockdown period.

Rathod has sent a letter in this regard to Union Minister Arjun Ram Meghwal, Rajasthaun Chief Minister Ashok Gehlot, Energy Minister BD Kalla and the high officials of the power company BKSEL after meeting with the Divisional Officers.

It has been told in the letter that since March 22 this year, the entire work has been stopped. In such a situation, electricity bills should be forgiven. He said that shops in Loudown were closed, nothing was done. If electricity is not burnt, there is no justification for paying the bill. Bikaner Vyapar Udyog Mandal spokesperson Sonuraj Asudani said that due to global epidemic corona, lockdown is going on all over the country, the employment of workers has been lost and people will have to go through economic recession in the coming days, in such a situation, the Chief Minister has demanded from Gehlot and the power company That the electricity bills from 22-March to 31-May-2020 in the entire country should be waived.

Board officials and members also said in a swarf that electricity bills should be forgiven. The meeting was attended by Secretary Jaidev Sharma, Vice President Hateram Gaur, Treasurer Ravi Purohit, Organization Secretary Ishwarchand Bothra, Associate Secretary Vinod Bhojak, Vedprakash Aggarwal, Srilal Vyas, Rohit Kachhwa Mahavir Singh Baran, Ravindra Joshi, Sushil Sharma, Satish Purohit, Sachin Bhatia, Govind Singh Kachwa Everyone was present.

 

Advertisements
Advertisements
ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here