चॉकलेट का लालच देकर दो बच्चियों के साथ कई बार की घिनौनी हरकत

Disgusting act of many times with two girls with the temptation of chocolate
Disgusting act of many times with two girls with the temptation of chocolate

बीकानेर, (समाचार सेवा) चॉकलेट का लालच देकर दो बच्चियों के साथ कई बार की घिनौनी हरकत, पन्‍द्रह दिन के अंतराल में दो नाबालिग बच्चियों के साथ कई बार घिनौनी हरकत करने का मामला छह माह बाद सामने आया है।

आरोपी इन बच्चियों को चॉकलेट व पैसे देने के बहाने अपने नए बने खाली मकान में ले जाकर अपने साथ सुलाता था और उनके शरीर के साथ खिलवाड किया करता था।

बज्‍जू थाना पुलिस ने इस मामले में नगरासर गांव के निवासी गोरधनराम गोदारा पुत्र धौंकलराम के खिलाफ आईपीसी व पोक्‍सा एक्‍ट  के तहत मामला दर्ज किया है। जांच एसआई नरेश कुमार निर्वाण दवारा की जा रही है।

पीडित बच्चियों के परिजनों की ओर से शनिवार 1 मई को आधीरात को दर्ज मामले में पुलिस को बताया गया कि आरोपी गोरधन ने गत वर्ष 20 सितंबर से 6 अक्‍टूबर तक उसकी दोनों बच्चियों को चॉकलेट व पैसे देने के बहाने बहला फुसलाकर अपने नए बने खाली मकान में ले गया और वहां बच्चियों को अपने साथ सुलाकर दोनों के साथ घिनौनी हरकत की। पुलिस ने आरोपी गोरधन को गिरफतार कर लिया है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना व 18 प्लस युवाओं के कोविड टीकाकरण अभियान का शुभारंभ

जिला मुख्यालय सहित पंचायत समिति एवं ग्राम पंचायत स्तर पर हुआ सीधा प्रसारण

जिला कलक्टर ने दो लाभार्थियों को सौंपे बीमा पॉलिसी पत्र

बीकानेर, 1 मई। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना और 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों के लिए निशुल्क कोविड टीकाकरण अभियान का ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा शुभारंभ किया गया।

समारोह का जिला मुख्यालय सहित सभी पंचायत समिति और ग्राम पंचायत स्तर तक सीधा प्रसारण किया गया। जिला स्तर पर राजीव गांधी सेवा केंद्र में जिला कलक्टर नमित मेहता, नगर निगम उपायुक्त पंकज शर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुकुमार कश्यप, डॉ. रंजन माथुर व उपनिदेशक आईटी सत्येंद्र सिंह राठौड़ आदि मौजूद रहे।

इस दौरान जिला कलक्टर ने एनएचएम के संविदा कार्मिक दिनेश आचार्य और पत्रकार अपर्नेश गोस्वामी को स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी पत्र प्रदान किया।

देशभर में राजस्थान ने की अनूठी पहल

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना राज्य सरकार की बेहद महत्वाकांक्षी योजना है। इसके तहत प्रत्येक परिवार को कैशलेस इलाज के लिए पांच लाख रुपये तक के स्वास्थ्य बीमा का लाभ दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में यूनिवर्सल हैल्थ कवरेज लागू करने की बजट घोषणा की अनुपालना में 1 मई से चिरंजीवी योजना की शुरूआत की गई है। इसके तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम एवं सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के 1 करोड़ 10 लाख परिवारों के साथ प्रदेश के समस्त विभागों में कार्यरत संविदाकर्मी एवं लघु और सीमांत कृषको को भी निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा का लाभ दिया जाएगा।

प्रदेश के अन्य परिवार प्रति वर्ष 850 रुपये के प्रीमियम पर योजना से जुड़ सकेंगे। योजना के तहत चिन्हित बीमारियों के लिए 50 हजार रुपये एवं गंभीर बीमारियों के लिए 4 लाख 50 हजार रुपये प्रतिवर्ष बीमा कवर मिलेगा। इसमें विभिन्न बीमारियों के 1 हजार 576 पैकेज शामिल किए गए हैं। इसमें कोविड को भी शामिल किया गया है। योजना से जुड़े निजी एवं सरकारी अस्पतालों में लाभार्थी परिवार निःशुल्क उपचार ले सकते हैं।

मरीज के अस्पताल में भर्ती होने से पांच दिन पहले और डिसचार्ज होने के पंद्रह दिनों का चिकित्सा खर्च निःशुल्क पैकेज में शामिल है। योजना के तहत संविदा कार्मिकों, लघु एवं सीमांत कृषकों तथा अन्य श्रेणी के परिवारों को पंजीकरण करवाना जरूरी होगा।

एक माह बढ़ी पंजीयन तिथि

जिला कलक्टर नमित मेहता ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा योजना के तहत पंजीकरण की तिथि को 31 मई तक बढाया गया है। इस तारीख तक पंजीकरण करवाने वाले परिवारों को पंजीकरण तिथि से ही योजना का लाभ मिलेगा। वहीं इसके बाद पंजीकरण करवाने वाले परिवार को तीन माह बाद लाभ मिलेगा।

बीकानेर के अस्पताल जहां कैशलेस भर्ती व ऑपरेशन सेवाएं उपलब्ध होंगी’ राजकीय अस्पताल पीबीएम, जिला अस्पताल, सभी 18 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र निजी अस्पताल , एमएन, डी टी एम, श्रीराम, जीवन रक्षा, श्रीकृष्णा न्यूरो स्पाइन व वरदान हॉस्पिटल।

इनके अतिरिक्त जयपुर की संतोकबा दुर्लभजी, महात्मा गांधी, उदयपुर के गीतांजली व जोधपुर एम्स जैसे राज्य भर के बड़े अस्पतालों में निःशुल्क व कैशलेस चिकित्सा सेवाएं बीमित परिवार को मिलेगी।

पीबीएम अस्पताल में लगाए उपाधीक्षक स्तर के पुलिस अधिकारी कोविड प्रोटोकाॅल के अनुसार व्यवस्थित रखेंगे आवागमन

पुलिस अधीक्षक से चर्चा के बाद जिला कलक्टर ने जारी किए आदेश

बीकानेर, 1 मई। पीबीएम अस्पताल में कानून एवं शांति व्यवस्था तथा अन्य प्रशासनिक व्यवस्था के लिए पूर्व में नियुक्ति प्रशासनिक अधिकारियों के साथ उप अधीक्षक स्तर के पुलिस अधिकारियों की राउंड द क्लाॅक ड्यूटी लगाई गई है। जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट नमित मेहता ने बताया कि पुलिस अधीक्षक से चर्चा के पश्चात यह आदेश जारी किए गए हैं।

इसके अनुसार एससी-एसटी सेल के उपाधीक्षक ओम प्रकाश चैधरी की नियुक्ति प्रातः 8 से रात्रि 8 बजे तक तथा अभय कमांड सेंटर के पुलिस उपाधीक्षक सुखविन्द्र पाल की नियुक्ति रात्रि 8 से प्रातः 8 बजे तक के लिए की गई है। वहीं अस्पताल में तीन पारियों में प्रशासनिक अधिकारियों को पूर्व में ही नियुक्त किया गया है।

इनमें जिला रसद अधिकारी भागूराम मेहला को प्रातः 6 से दोपहर 2 बजे तक, नायब तहसीलदार अनिरूद्ध पांडे को दोपहर 2 से रात्रि 10 बजे तक तथा सहायक आयुक्त उपनिवेशन रणजीत बिजारणिया को रात्रि 10 से सुबह 8 बजे तक के लिए नियुक्त किया गया है।

सभी अधिकारी आपसी समन्वय रखते हुए पीबीएम अस्पताल में लोगों के आवागमन को कोविड प्रोटोकाॅल के अनुरूप व्यवस्थित रखेंगे तथा शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखना सुनिश्चित करेंगे। इसके अतिरिक्त संबंधित अधिकारी एवं चिकित्सकों से समन्वय रखते हुए किसी प्रकार की कठिनाई का समुचित समाधान करवाते हुए व्यवस्थाएं बनाए रखेंगे।