ऑक्सीजन के दुरुपयोग पर कलक्टर ने जीवन रक्षा हॉस्पिटल को दिया नोटिस

Collector gave notice to Jeevan Raksha Hospital on misuse of oxygen
Collector gave notice to Jeevan Raksha Hospital on misuse of oxygen

बीकानेर, (समाचार सेवा)। ऑक्सीजन के दुरुपयोग पर कलक्टर ने जीवन रक्षा हॉस्पिटल को दिया नोटिस, आक्सीजन के दुरुपयोग पर जीवन रक्षा हॉस्पिटल को कारण बताओ नोटिस देते हुए दो दिन में स्पष्टीकरण मांगा गया है।

जीवन रक्षा हॉस्पिटल में कोविड प्रभावित रोगियों की चिकित्सा में गंभीर प्रकृति की अनियमितताएं, संसाधनों की कमी एवं आक्सीजन का दुरूपयोग पाए जाने के पर कलक्टर नमित मेहता ने अस्पताल को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

कलक्टर ने बताया कि कोविड-19 महामारी के वर्तमान परिपेक्ष्य में चिकित्सा व्यवस्था सुचारू एवं दुरूस्त रखने के लिए गठित जिला स्तरीय समिति द्वारा 20 अप्रैल को अस्पताल का निरीक्षण किया गया। समिति में नगर निगम आयुक्त, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, आरसीएचओ और फोर्ट डिसपेंसरी के फिजिशियन शामिल थे।

निरीक्षण के दौरान पाया गया कि भर्ती मरीजों में से 20 मरीजों का ऑक्सीजन सैचुरेशन सही था। फिर भी उन्हें ऑक्सीजन दिया जा रहा था। इस प्रकार वर्तमान परिस्थितियों में जीवन रक्षा के महत्वपूर्ण स्त्रोत का दुरूपयोग पाया गया।

कोविड वार्ड में पॉजिटिव मरीजों के पास उनके रिश्तेदार व स्टाफ बिना मास्क एवं बिना पीपीई किट पहने परिसर में आ-जा रहे थे, जो कि राज्य सरकार द्वारा जारी कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन की श्रेणी में आता है।

अस्पताल में 2 बीएचएमएस और एक एमबीबीएस डॉक्टर मिले, जो कोविड मैनेजमेंट और आईसीयू मैनेजमेंट के दृष्टिकोण से सक्षम नहीं थे। इसके अतिरिक्त हॉस्पिटल में कोविड इलाज के लिए राज्य सरकार द्वारा निर्धारित राशि से अधिक राशि वसूल किए जाने की भी शिकायत भी प्राप्त हुई।

इन सभी अनियमितताओं के मद्देनजर यह नोटिस जारी किया गया है। मेहता ने बताया कि दो दिन में जवाब नहीं आने की स्थिति में अस्पताल के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। साथ ही अनुज्ञा पत्र को निरस्त किए जाने तथा केन्द्र एवं राज्य की सभी योजनाओं से अस्पताल को ब्लैक लिस्टेड करने की कार्यवाही प्रारम्‍भ कर दी जाएगी।

कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने पर वसूला जुर्माना

बीकानेर, (समाचार सेवा)। रानी बाजार औद्योगिक क्षेत्र की विभिन्न इकाईयों में कोविड गाइडलाइन की अनुपालना नहीं पाए जाने के कारण इन इकाईयों के विरूद्ध 9 हजार 500 रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा ने बताया कि रानी बाजार औद्योगिक क्षेत्र की विभिन्न इकाईयों में कोविड प्रोटोकॉल की अनुपालना का औचक निरीक्षण सोमवार को किया गया।

इस दौरान मास्क नहीं लगाने व सोशल डिसटेंसिंग की पालना नहीं करने के कारण विनोद इण्डस्ट्रीज, ग्लोबल वूलन इण्डस्ट्रीज, विकास ट्रेडिंग कार्पोरेशन, राकेश वूलन इण्डस्ट्रीज के विरूद्ध जुर्माना राषि वसूली गई है।

रीको ने औद्योगिक इकाईयों के विरूद्ध की कार्यवाही

बीकानेर, (समाचार सेवा)। रीको औद्योगिक क्षेत्र में संचालित 7 इकाईयों द्वारा कोविड गाइडलाइन की अनुपालना नहीं पाए जाने के रीको ने कार्यवाही करते हुए 9 हजार 500 रुपये जुर्माना लगाया गया है।

रीको के क्षेत्रीय प्रबन्धक सुशील कटियार ने बताया कि मैसर्स जुगल किशोर वनस्पति के विरुद्ध 500, कृष्णा इण्डस्ट्रीज पर 2 हजार 500, राठी वूलन पर 3 हजार 500, बिहाणी वूलन पर 500, अग्रवाल उद्योग एवं सेठिया फूड प्रोडक्ट्स पर एक-एक हजार तथा गौरव   पैकेजिंग के विरूद्ध 500 रुपए की जुर्माना राशि वसूल की गई है।

तीन दुकानों के विरूद्ध लगाया ढाई-ढाई हजार जुर्माना

बीकानेर, (समाचार सेवा)। एमआरपी से अधिक दर पर सामग्री का विक्रय किए जाने पर श्रीडूंगरगढ़ की तीन फर्मों के विरूद्ध ढाई-ढाई हजार का जुर्माना लगाया गया है।

जिला रसद अधिकारी भागूराम महला ने बताया कि कालाबाजारी और अंकित बिक्री मूल्य से अधिक दर पर बिक्री की रोकथाम के लिए जिला कलक्टर के निर्देशानुसार गठित टीम द्वारा यह कार्यवाही की गई है।

श्रीडूंगरगढ के मुख्य बाजार स्थित मोदी ब्रदर्स, धर्मेन्द्र कुमार वासुदेव तथा मोरवानी ट्रेडिंग कम्पनी के विरुद्ध एमआरपी से अधिक दर पर बिक्री प्रमाणित होने पर नियमानुसार तीनों फर्मो के विरुद्ध जुर्माना लगाया गया।

कार्यवाही करने वाली टीम में विधिक माप विज्ञान अधिकारी भंवर सिंह, प्रवर्तमन अधिकारी इंद्रपाल मीणा तथा प्रवर्तन निरीक्षक संदीप झांकल शामिल थे।