अभय एप से आम अवाम को तुरंत मिलेगी पुलिस सुरक्षा

0
abhay app
abhay app

बीकानेर, (समाचार सेवा)। अभय एप से आम अवाम को तुरंत मिलेगी पुलिस सुरक्षा, यदि आप कहीं अपराधियों से घिर गए हैं तो बस अपने मोगाइल फोन में डाउनलोड अयभ एप के होम पेज पर बने एसओएस बटन को दबा दें पुलिस जल्‍द से जल्‍द आपको मौके पर बचाने पहुंच जाएगी। महिलाओं के लिये अभय एप एक वरदान है।

अभय कमांड सेंटर बीकानेर के इंचार्ज रमेश सर्वटा ने बताया कि आम आदमी को अपराधियों तथा किसी भी प्रकार के संकट के दौरान तुरंत पुलिस सहायता पहुंचाने के लिये इस एप को तैयार किया गया है। उन्‍होंने बताया कि आम आदमी सहित खासकर महिलाओं की सुरक्षा के लिए राजस्थान पुलिस की ओर से तैयार किया गया अभय एप अब बीकानेर में भी सक्रिय कर दिया गया है।

मुसीबत के समय महिलाएं इस मोबाइल एप का इस्तेमाल करेंगी और उनकी लोकेशन पुलिस कंट्रोल रूम पहुंच जाएगी। सर्वटा ने बताया कि पुलिस सहायता चाहने सभी लोगों को अपने मोबाइल में यह एप डाउनलोड करना होगा और अपनी जानकारी उपलब्ध करवानी होगी। मुसीबत के समय पीडित दवारा अभय एप का एसओएस बटन दबाते पीडित की लोकेशन पुलिस कंट्रोल रूम पहुंच जाएगी।

इसके साथ ही पीडित के मोबाइल का फ्रंट कैमरा भी ऑटोमेटिक ऑन जो जाएगा। इससे मौके के वीडियो और फुटेज भी कंट्रोल रूम पहुंच जाएंगे। कंट्रोल रूम में पुलिसकर्मी संबंधित पुलिस थाने के एसएचओ को लोकेशन, वीडियो-फुटेज भेज देंगे और थाने की पुलिस तत्काल मौके पर पहुंच जाएगी।

अभय कमांड सेंटर बीकानेर के इंचार्ज रमेश सर्वटा ने बताया कि अभय एप की जानकारी  आमजन तक पहुंचाने के लिए एक वीडियो तैयार किया गया है। इस वीडियो में कांस्टेबल शीतल ने अभय एप के इस्तेमाल करने की पूरी जानकारी विस्‍तार से सरल भाषा में समझाई है।

मंदिर में रखे गौशाला दानपात्र को तोड़कर चुरायी नगदी

बीकानेर, (समाचार सेवा)। अज्ञात चोरों ने नगर सेठ श्रीलक्ष्मीनाथ मंदिर परिसर में लगे गौशाला के दान पात्र को तोड़कर दानपात्र में जमा रुपये उड़ा लिये हैं। चोरों ने यह कार्य बुधवार की देर रात में किया। चोरी की जानकारी गुरुवार सुबह मंदिर पहुंचे श्रद्धालुओं और मंदिर पुजारी को हुई। मामले की जानकारी कोतवाली पुलिस को दी गई। मंदिर परिसर में इन दिनों चोरी की घटनायें बढ़ने लगी हैं।

पांच दिन पहले भी लक्ष्मीनाथ मंदिर परिसर में घुसे चोरों ने मंदिर परिसर में बने श्रीगणेश मंदिर में सैंधमारी का प्रयास किया। तब पुजारी ने चोर को देख लिया था और चोर को पकडने का प्रयास किया लेकिन पुजारी द्वारा चोर पर काबू नहीं पा सकने के कारण चोर भाग छूटा। मंदिर विकास समिति से जुड़े सीताराम कच्छावा के अनुसार पुलिस की निष्क्रियता के कारण मंदिर में दिनभर असामाजिक तत्वों को जमावड़ा रहता है। इसी के परिणाम स्वरूप चोरियां भी आये दिन होने लगी है।

मंदिर में सुरक्षा बंदोबश्तों की मांग लेकर गुरूवार दोपहर मंदिर विकास समिति के पदाधिकारियों और श्रद्धालूओं के शिष्टमंडल ने पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर उन्हे ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में अवगत कराया गया है कि  पुलिस व होमगार्ड की निष्क्रियता के कारण ही मंदिर में असामाजिक तत्वों का जमावड़ा व चोरियां जैसी घटनाएं हो रही है। इतने बड़े प्रतिष्ठ मंदिर में बार-बार चोरी की घटना से श्रद्धालुओं में भारी रोष है।

आरएनबी ग्लोबल विश्वविद्यालय बीकानेर के विद्यार्थियों का टॉपर टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड जयपुर में चयन

बीकानेर, (समाचार सेवा)। आरएनबी ग्लोबल विश्वविद्यालय बीकानेर के एमबीए चतुर्थ सेमेस्टर के 2 विद्यार्थियों का प्रतिष्ठित कंपनियों में चयन किया गया है। एमबीए चतुर्थ सेमेस्टर के विद्यार्थी मोहित सिंघल और तेजन  सुखीजा का टॉपर टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड की सब्सिडियरी कंपनी हेगोट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड जयपुर में एकेडमिक कंसल्टेशन कंसलटेंट (सेल्स) के पद पर चयन किया गया है।

इन विद्यार्थियों को 3 लाख 60 हजार प्रति वर्ष वेतन के साथ-साथ आकर्शक इंसेंटिव भी दिया जाएगा। विव की ओर से बताया गया कि आरएनबी ग्लोबल विश्वविद्यालय विद्यार्थियों के सैद्धांतिक तथा व्यावहारिक ज्ञान की तरफ तो प्रयास करती ही है, साथ ही विद्यार्थियों में आवश्यक कौशल का विकास भी करती है। विश्व विद्यालय में नियमित रूप से देश की प्रतिष्ठित कंपनियों को आमंत्रित किया जाता है जो कि विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों का इंटरव्यू के बाद उपयुक्त पद पर चयन व नियुक्ति करते हैं।

विद्यार्थियों को इंटरव्यू के लिए विशेष तैयारी भी करवाई जाती है। इसके लिए विश्वविद्यालय में सेंटर फॉर लीडरशिप डेवलपमेंट नामक पृथक विभाग की स्थापना की गई है। इस विभाग में प्लेसमेंट से संबंधित विशेषज्ञ नियमित रूप से अपनी सेवाएं देते हैं। विश्वविद्यालय का 65 से भी ज्यादा कंपनियों के साथ प्लेसमेंट का टाई अप है।

डॉ. कल्ला ने निभाया वादा, शहर में होंगे 6 करोड़ रु. के विकास कार्य

बीकानेर, (समाचार सेवा)। राज्य सरकार ने बीकानेर नगर विकास न्यास द्वारा भेजे गए प्रस्तावों को मंजूरी देते हुए सड़क एवं नाली निर्माण, सड़कों के चौड़ाईकरण तथा दोनों छोर पर पेवर ब्लॉक लगाने जैसे विकास कार्यों के लिए करीब 6 करोड़ रुपये की स्वीकृति जारी की है। बीकानेर पश्चिम के विधायक व राज्य सरकार में केबिनेट मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने बताया कि इन कार्यों की स्वीकृति मिलने से बीकानेर शहर के लोगों से किया गया वायदा पूरा होगा और उन्हें राहत मिलेगी।

उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तथा नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल का बीकानेर की जनता की ओर से आभार जताया है। जलदाय मंत्री डॉ कल्ला ने बताया कि नगरीय विकास विभाग द्वारा बीकानेर के वार्ड नम्बर-1 में सड़क और नाली निर्माण के कार्यों के लिए दो करोड़ रुपये की राशि जारी की गई है। इसी प्रकार वार्ड तीन में भी सड़क और नाली निर्माण के लिए एक करोड़ 50 लाख की राशि जारी की है। उन्होंने बताया कि बीकानेर शहर में पंडित धर्म कांटे से मुक्ता प्रसाद नगर को जोडने वाली रोड़ के दोनों ओर कच्ची जगह पर पेवर ब्लॉक लगाए जाएंगे।

इसके लिए एक करोड़ 25 लाख रुपये की स्वीकृति जारी की गई है। इसके अलावा बीकानेर शहर में गोकुल सर्किल से श्रीरामसर तक सड़क की चौड़ाई बढ़ाते हुए सुदृढ़ीकरण किया जाएगा, इस कार्य की एक करोड़ 20 लाख रूपये की स्वीकृति जारी की गई है। डॉ कल्ला ने बताया कि इन सभी कार्यों के लिए राज्य सरकार ने प्रशासनिक और वित्तीय स्वीकृतियां जारी कर दी है। ये कार्य नगर विकास न्यास के माध्यम से कराए जाएंगे।  

वेतन की मांग पर ईसीबी कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

बीकानेर, (समाचार सेवा)। ईंजीनियरिंग कॉलेज बीकानेर (ईसीबी) के शिक्षकों ने वेतन की मांग को लेकर गुरुवार को पहले कॉलेज में कार्य बहिष्कार किया और बाद में कलेक्ट्रेट के सामने प्रदर्शन किया। यह कार्य बहिष्कार और प्रदर्शन राजस्थान अभियांत्रिकी महाविद्यालय शिक्षक संघ (रेक्टा), बीकानेर इकाई व शैक्षणिक अशैक्षणिक कर्मचारी संघठन अभियांत्रिकी महाविद्यालय बीकानेर के बैनर तले किया गया।

प्रदर्शनकारी शिक्षकों ने बताया कि में ईसीबी में वित्तीय संसाधनों की अनुपलब्धता के कारण शैक्षणिक तथा अशैक्षणिक कर्मचारियों को पिछले तीन माह से वेतन नहीं मिला है। कर्मचारियों ने बताया कि तीन-तीन माह से हमें वेतन नहीं मिला है ऐसे में हम हमारे परिवार का पालन-पोषण नहीं कर पा रहे हैं।

प्रदर्शनकारी शिक्षकों व अन्य कार्मिकों ने बताया कि यदि सरकार उनकी मांग पर कोई ध्यान नहीं देती है तो  16 दिसम्बर को सभी शैक्षणिक कर्मचारी सामूहिक रूप से कॉलेज में उन्हें दिये गए अतिरिक्त प्रशासनिक दायित्वों से इस्तीफा दे देंगे।

अपराध / दुर्घटना समाचार

मौहल्ला चुनगरान में फायरिंग मामला

दूसरे पक्ष ने करवाई क्रास एफआईआर, लगाये गंभीर आरोप

Advertisements
ads

बीकानेर, (समाचार सेवा)। शहर के मौहल्ला चुनगरान में रविवार की रात हुई फायरिंग और हमलेबाजी की वारदात को लेकर  दर्ज हुए क्रॉस केस में फायरिंग के आरोपी अलताफ उर्फ हाली की बीवी नर्गिस बानों ने चार जनों को नामजद कराया है।

हाजिर थाना हुई नर्गिस बानों ने नया शहर थाना पुलिस को दी अपनी लिखित रिपोर्ट में बताया कि रविवार की रात करीब 11.30 बजे आदतन अपराधी कुदरत अली, रोशन अली, दिलावर उर्फ लाला, साहिल पुत्र कुदरत अली तथा उमर और दस-बारह जने उसके घर में घुस आये। आरोपियों ने घर में घुसते ही फायरिंग कर दहशत फैलाई और मारपीट-तोडफÞोड करने लगे।

जानकारी में रहे कि रविवार की रात मौहल्ला चूनगरान हुई वारदात में मौके पर हुई फायरिंग में डीडू सिपाहियान निवासी कुदरत अली पुत्र फकरुदीन (48) और उसका साढू दिलावर घायल हो गये थे।  उनके पर्चा बयान पर मोहल्ला चूनगरान निवासी अल्ताफ उर्फ हली एवं 10-12 लोगों के खिलाफ मारपीट व जानलेवा हमले का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार दोनों पक्षों में रंजिश है और पहले भी मारपीट हो चुकी है। इनके मामले भी थाने में दर्ज हुए थे। 

विवाहिता को पीटा, आरोपी पति, देवर, देवरानी फरार

बीकानेर, (समाचार सेवा)। जामसर थाना पुलिस ने क्षेत्र के गांव मालासर में एक विवाहिता धापूदेवी नायक की बुरी तरह से पिटाई कर पीड़िता को अधमरी हालत में पहुंचाने के आरोप में पीड़िता के पति सहीराम नायक तथा  देवर लूणाराम, देवरानी गुड्डी देवी नायक के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार इस मारपीट में पीड़िता के सिर, छाती और मुंह पर गंभीर चोटें आई है। घायल धापू देवी को बीकानेर के पीबीएम अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

मामला दर्ज होने के बाद से आरोपी पति, देवर व देवरानी फरार हो गए हैं। पीड़िता के साथ यह मारपीट किसी घरेलु झगड़े के कारण की गई। पीड़िता धापू देवी ने पुलिस को दिये अपने पर्चा बयान में बताया बीते सोमवार 9 दिसम्बर की दोपहर वह घर में काम कर रही थी। इसी दौरान उसके  पति सहीराम ने उसे बेरहमी पीटना शुरू कर दिया। शोर-शराबा सुनकर मौके पर पहुंचे देवर लूणाकरण और देवरानी गुड्डी ने भी उसको पीटना शुरू कर दिया। थानाधिकारी ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

तबीयत बिगड़ने से पुलिस सिपाही की मौत

बीकानेर, (समाचार सेवा)। पुलिस लाईन में तैनात कांस्टेबल नरेन्द्र सिंह मीणा की अचानक तबियत खराब होने के बाद अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। मीणा बीकानेर में बीछवाल पुलिस कॉलोनी के क्वार्टर में रहते थे। वह काफी दिनों से बीमार थे। उनको अचानक अधिक तबियत खराब होने पर अस्पताल ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। बीछवाल थाना पुलिस में मृतक की मृग दर्ज की गई है।

Advertisements
Advertisements
ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here